Friday, July 30, 2010

रवि बास्वानी को समर्पित...

Rest in Peace dear Ravi Vaswani
मैं एक कलाकार हूँ

आकाश में हैं बादल जैसे,
मैं वैसे ही निराकार हूँ,
मैं भावों का व्यापार हूँ,
और शब्दों का तलबगार हूँ,
मैं, एक कलाकार हूँ…

मैं राम भी हूँ और रावण भी,
आज़ान भी हूँ और इसाह भी,
मुझको ना बांधो धर्मों में,
मैं खुद में इक संसार हूँ.
मैं, एक कलाकार हूँ…

परदे से मुझको मत नापो,
मैं नहीं हूँ वह जो दिखता हूँ,
वो छवी है जो मैं पाता हूँ,
और उसमे मैं रम्म जाता हूँ,
मैं, एक कलाकार हूँ…

क्यों मूल पे मेरे हँसते हैं,
वेतन तो वो भी पाते हैं,
अट्टाहस मुझ पर करते हैं,
जब अपनी जुगत लगाता हूँ,
मैं, एक कलाकार हूँ…

मैंने लोगों को देखा है,
जो खूब तमाशे करते हैं,
हर रात नए मयखाने में,
वो ढेरों वादे करते हैं,
उनसे यह पूछे आज कोई,
मुझ पर हैं नीर बहाते क्यों,
मैं ही न समझा देर तलक,
पर, अब जाने भी दो यारों…

मैं तो परदे का खेल ही था,
अब खेल ख़तम कर जाता हूँ,
कल फिर आऊंगा लौट कर,
यह तुमको यकीन दिलाता हूँ,
फिर से आंसू बोकर अपने,
तुमको मैं हंसी पिलाऊंगा,
और फिर तुमको मैं व्यंगों के,
सागर में लेकर जाऊँगा,
मैं अब भी, कलाकार हूँ… और सदैव रहूँगा…


- अमित शर्मा




5 comments:

Anshu said...

मैं अब भी, कलाकार हूँ… और सदैव रहूँगा… .........wonderfull..............

Abha M. said...

अमित, एक कलाकार का अर्थ और उसकी सोच की व्याख्या जो आपने की है वो काबिले तारीफ है| रवि न सिर्फ एक कलाकार पर एक बेहद संजीदा व्यक्ति भी थे, और उन्हें यह कविता समर्पित कर के आपने एक बहुत ही योग्य व्यक्ति को प्रणाम किया है |

Abha Banerjee
www.abhamb.com

TunnelVision said...

Very nice poem, Amit.

I remember a brief meeting with Late Ravi Vaswani in Delhi during early 1980s.

He essayed an exceptionally brilliant role in the cult comedy " Jaane Bhi Do Yaaron". Those who have seen TV serial "Idhar Udhar" and his debut film "Chasme Budboor" can never ever forget him.

His departure has left an deep void.

M. Singh
http://www.chowk.com/writers/2862

Subodh said...

Ek interesting insaan par hamesha khuda ki nazar rehti hai...akhir God ko bhi Comedy pasand aati hogi...Aur Raviji ki toh Timing aur unka wacky humor suna hai aur suna bhi hai ki kaafi kamaal tha...Isliye agar uparwale ne sapne poora hone se pehle unhe bula liya, toh shayad isiliye ki dobaara unhe ek aur grand entry ke saath duniya ke saamne pesh kiya jaaye...!! Miss you Ravi Ji...

ravi gossain said...

a true actor , a great human , a true kalakaar, wonderfull teacher,.............

i m short of words...... missing him always......
love u bade bhaai....